Tuesday, 09 August 2022

पोस्ट रिपोर्ट्स

न्यूज़ पेपर / मैगज़ीन / पब्लिशर

Japan Shinzo Abe : पूर्व प्रधानमंत्री की मौत , चुनाव प्रचार के दौरान , मारी गई थी गोली ।

Japan Shinzo Abe :  पूर्व प्रधानमंत्री की मौत , चुनाव प्रचार के दौरान , मारी गई थी गोली ।

SOURCE BY : POST REPORTS

Shinzo Abe: जापान के पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे की मौत हो गई है. शिंजो आबे पश्चिमी जापान के नारा शहर में चुनावी भाषण दे रहे थे, इसी दौरान उनपर हमला हुआ. उनके सीने में गोली लगी. जापान के NHK वर्ल्ड न्यूज के मुताबिक, गोली लगते ही आबे जमीन पर गिर पड़े. इलाज के लिए उन्हें अस्पताल ले जाया गया, लेकिन वो बचाए नहीं जा सके. संदिग्ध हमलावर को मौके से पकड़ लिया गया.  


हमलावर ने पीछे से किया हमला


67 वर्षीय शिंजो आबे पर हमला शुक्रवार को स्थानीय समयानुसार दिन में 11.30 बजे हुआ. इलाज के लिए आबे को अस्पताल ले जाया गया. NHK वर्ल्ड न्यूज ने कहा कि गोली चलने जैसी आवाज सुनी गई और एक संदिग्ध को मौके पर ही हिरासत में ले लिया गया. मौके पर मौजूद NHK वर्ल्ड न्यूज के एक रिपोर्टर ने कहा कि आबे के भाषण के दौरान उन्हें लगातार दो धमाके की आवाज सुनाई दी. 


जापान टाइम्स के अनुसार, शिंजो आबे पर शुक्रवार को नारा की एक सड़क पर भाषण देने के दौरान पीछे से एक व्यक्ति ने हमला किया. गोली लगने के बाद शिंजो आबे जैसे ही जमीन पर गिरे उनके सिक्योरिटी गार्ड्स तुरंत उनके पास आए. बताया जाता है कि आबे की गर्दन से काफी खून निकला.


घायल होने के बाद शिंजो आबे को एयर एम्बुलेंस से एयर लिफ्ट किया गया. NHK ने पुलिस सूत्रों का हवाला देते हुए कहा कि ऐसा प्रतीत होता है कि हमलावर 40 साल के आसपास था. उसके पास से एक बंदूक जब्त कर ली गई है.


शिंजो आबे सबसे लंबे समय तक जापान के प्रधानमंत्री रहे. आबे ने अगस्त 2020 में खराब स्वास्थ्य के कारण पद छोड़ दिया था. आबे ने 2006 में एक साल और फिर 2012 से 2020 तक पद संभाला.


हमले के बाद नहीं चल रही थी शिंजो आबे की सांस 


अधिकारियों ने बताया कि 67 वर्षीय आबे को विमान से एक अस्पताल ले जाया गया, लेकिन उस समय उनकी सांस नहीं चल रही थी और हृदय गति रुक गई थी. दुनिया के सबसे सुरक्षित देशों में से एक माने जाने वाले जापान में यह हमला हैरान करने वाला है. जापान में बंदूक नियंत्रण के सख्त कानून लागू हैं.


प्रधानमंत्री फुमियो किशिदा ने आबे के ठीक होने की उम्मीद जताई थी. किशिदा ने इस हमले को ‘‘कायराना और बर्बर’’ बताया और कहा कि चुनावी अभियान के दौरान हुआ यह अपराध पूरी तरह अक्षम्य है.


घटना के बाद किशिदा और उनके कैबिनेट मंत्री देशभर में अन्य प्रचार अभियानों को बीच में रोक कर टोक्यो लौट आए हैं. किशिदा ने यामगाता से हेलीकॉप्टर से लौटने के बाद प्रधानमंत्री कार्यालय में पत्रकारों से कहा कि आबे का उत्कृष्ट उपचार किया जा रहा है. उन्होंने कहा, ‘‘मैं दिल से पूर्व प्रधानमंत्री के ठीक होने की दुआ कर रहा हूं.’’


नारा की पुलिस ने हत्या की कोशिश के लिए एक संदिग्ध को गिरफ्तार किए जाने की पुष्टि की और उसकी पहचान तेत्सुया यामागामी (41) के तौर पर की. एनएचके ने बताया कि संदिग्ध 2000 में तीन साल के लिए समुद्री आत्म-रक्षा बल में सेवाएं दे चुका है.


जापानी संसद के ऊपरी सदन के लिए मतदान रविवार को होना है. जापान के मुख्य कैबिनेट मंत्री हिरोकाजू मात्सुनो ने कहा, ‘‘इस तरह का बर्बर कृत्य पूरी तरह अक्षम्य है, चाहे इसकी कुछ भी वजह हो... और हम इसकी कड़ी निंदा करते हैं.’’