Saturday, 31 July 2021

पोस्ट रिपोर्ट्स

न्यूज़ पेपर / मैगज़ीन / पब्लिशर

वाराणसी : यूपी सरकार की योजना से किसान महिलाएं बन रही अब आत्मनिर्भर, चला रहीं अपना स्टॉल।.....

वाराणसी : यूपी सरकार की योजना से किसान महिलाएं बन रही अब आत्मनिर्भर, चला रहीं अपना स्टॉल।.....

SOURCE BY : POST REPORTS

Beurocheif Amit Gupta Reports

Postreports Desk Team




वाराणसी। भले ही महिलाएं घर से बाहर निकल कर अपने पैरों पर खड़ी हो रही हैं, लेकिन ग्रामीण परिवेश में आज भी महिलाएं घूंघट के अंदर ही अपने परिवार की जिम्मेदारी उठाए हुए हैं। ऐसे में यूपी सरकार ने इन ग्रामीण महिलाओं को मजबूत करने के लिए और घर में आर्थिक योगदान में सहयोग दिलाने के लिए बड़ा कदम उठाया है.


जिसके अंतर्गत अब ग्रामीण महिलाएं घरों का चौखट लांघकर आत्मनिर्भर बन रही हैं, जिसकी शुरुआत पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र के ग्रामीण इलाके के बड़ागांव से हुई है। जहाँ महिलाओं के लिए एक मुहिम शुरू हुई है और मुहिम का नाम है "एक स्टॉल एक महिला के नाम"। पीएम मोदी भारत को आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में लगातार प्रयास कर रहे हैं।


ये प्रयास सिर्फ पुरुषों के लिए नही है बल्कि उन महिलाओं के लिए है जो आज भी घर के चौखट के अंदर अपने परिवार की जिम्मेदारी लेकर चल रही हैं। ऐसे में यूपी सरकार ने प्रो काशीफार्मर प्रोड्यूसर कंपनी की तरफ एक योजना की शुरुआत की है। प्रोकाशी फार्मर प्रोड्यूसर कंपनी के डायरेक्टर प्रवीण ने बताया कि इस योजना के अंतर्गत ग्रामीण इलाकों में खेतों में उपजने वाले सभी तरह के सब्जियों को सीधे तौर पर ग्राहकों तक पहुंचाई जाएगी, जिसके अंतर्गत ग्रामीण इलाकों के पटरियों पर स्टॉल लागये जाएगा।


ऐसा ही एक स्टॉल बड़ा गांव क्षेत्र के विरार कोटि में लगा है। लेकिन इस स्टॉल पर स्टॉल मालिक पुरुष नहीं बल्कि माँ और बेटी हैं जो सब्जियां बेच रही हैं। सब्जी का स्टाल लगाने वाली सुनिता गौड़ ने बताया कि इस स्टाल से हमें काफी आर्थिक मदद मिलेगी और हमारा परिवार चलेगा। सरकार के इस योजना से महिलाएं भी अब आगे बढ़ेंगी। इसके पहले ये महिलाएं घर के अंदर काम कर रही थीं, लेकिन आर्थिक स्थिति मजबूत नहीं थी। ऐसे में इन्हें सरकार के इस योजना का लाभ मिल रहा है।


इस स्टॉल पर वो महिलाएं होंगी जो घर के साथ साथ खेतों में मदद किया करती थीं। अब उन्हें इस स्टॉल के जरिये आत्मनिर्भर के साथ साथ स्वालम्बी बनाया जा रहा है। यूपी सरकार इस योजना के जरिये खेतों से उपजे सब्जियों को सीधे तौर पर बाजारों तक ला रही है ताकि बिचौलियों की जरूरत ही ना पड़े और योजना में महिलाओं को शमील कर एक परिवार को बड़ा राहत प्रदान कर रही है, जिससे परिवार में पुरुष के साथ साथ महिलाएं भी आर्थिक रूप से मजबूत हो।