Tuesday, 29 November 2022

पोस्ट रिपोर्ट्स

न्यूज़ पेपर / मैगज़ीन / पब्लिशर

B'DAY SPECIAL: फेवरेट अजहर के आखिरी टेस्ट में डेब्यू किया था इस बेमिसाल फील्डर ने

B'DAY SPECIAL: फेवरेट अजहर के आखिरी टेस्ट में डेब्यू किया था इस बेमिसाल फील्डर ने

SOURCE BY : POST REPORTS

मौहम्मद कैफ अजहरुद्दीन के बहुत बड़े फैन हैं उन्हें अजहर की बल्लेबाजी का अंदाज काफी पसंद था.

नई दिल्ली: अपने समय में टीम इंडिया में अहम स्थान रखने वाले मोहम्मद कैफ शनिवार को अपना 38वां जन्मदिन मना रहे हैं. 1 दिसंबर 1980 को उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद में जन्मे कैफ करीब 10 साल पहले टीम इंडिया से खेले थे और अपना आखिरी मैच खेलने के 12 साल बाद, इसी साल उन्होंने संन्यास की घोषणा की थी.  भारतीय क्रिकेट में कैफ का योगदान काफी सराहनीय रहा है. 

जब भी दुनिया के टॉप फील्डरों का जिक्र क्रिकेट की दुनिया में होता है, उनमें एक नाम मोहम्मद कैफ का नाम जरूर आता है. कैफ को लाडर्स पर 2002 में नेटवेस्ट ट्राफी फाइनल में 87 रन की मैच जिताने वाली पारी के लिए भी जाना जाता है. मोहम्मद कैफ ने अपना टेस्ट डेब्यू अपने आदर्श मोहम्मद अजहरुद्दीन के आखिरी टस्ट मैच में किया था. कैफ को अजहर की बल्लेबाजी का अंदाज बहुत पसंद है. अजहर के बाद कैफ के दूसरे फेवरेट खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर हैं. 

ऐसा रिकॉर्ड है कैफ का
मोहम्मद कैफ ने भारत के लिए 13 टेस्ट मैच खेले हैं, जिसमें उन्होंने एक शतक और तीन अर्धशतकों की मदद से 32.84 की औसत से 624 रन बनाए हैं. टेस्ट मैचों में कैफ का सर्वाधिक स्कोर 148 रन है. वहीं, उन्होंने 125 एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों में 2 शतकों और 17 अर्धशतकों की मदद से 32.01 की औसत से 2753 रन बनाए हैं. उन्होंने अपना आखिरी टेस्ट और वनडे 2006 में खेला था.

नेटवेस्ट ट्रॉफी जिताई थी कैफ ने
क्रिकेट के मक्का कहे जाने वाले लॉर्ड्स के मैदान पर कैफ ने 2002 नेटवेस्ट ट्रॉफी के फाइनल में नाबाद 87 रनों की पारी खेलकर भारत को इंग्लैंड पर ऐतिहासिक जीत दिलाई थी. इस जीत के हीरो मोहम्मद कैफ को करियर में पहली बार 'मैन ऑफ द मैच' के खिताब से नवाजा गया. इस जीत के बाद भारतीय कप्तान सौरव गांगुली ने अपनी शर्ट उतारकर लहराई थी.

indian cricketers who are out of international cricket for long periods can take retirement like Mohammed Kaif

मैच जीतने के लिए भारत के सामने 326 रनों का बहुत ही मुश्किल लक्ष्य था. इस पहाड़ जैसे स्कोर के सामने टीम इंडिया के 5 दिग्गज ,गांगुली, सहवाग, द्रविड़, तेंदुलकर और मोंगिया केवल 146 रन पर पवेलियन लौट गए. फिर टीम इंडिया की उम्मीद मोहम्मद कैफ और युवराज सिंह ने जगाए रखी. दोनों ने मिलकर इंग्लैंड के गेंदबाजों की जमकर धुनाई की और टीम इंडिया को शानदार जीत दिलवाई. 

वर्ल्ड कप में बनाया कैचों का वर्ल्ड रिकॉर्ड 
अपनी बेहतरीन फील्डिंग के लिए चर्चा में रहने वाले मोहम्मद कैफ के नाम एक अनोखा रिकॉर्ड है. विश्वकप के एक मैच में कैफ के नाम सबसे ज्यादा (4) कैच लेने विश्व रिकॉर्ड है, जो उन्होंने 2003 के वर्ल्डकप में श्रीलंका के खिलाफ लिए थे.

भारत को अंडर-19 वर्ल्ड कप जिताने वाले कप्तान
साल 2000 में अंडर-19 टीम की कप्तानी करने वाले मोहम्मद कैफ ने भारत को विश्व चैंपियन बनाया था. इस टीम में कैफ के साथ युवराज सिंह भी टीम का हिस्सा थे. कैफ की गिनती भारत के टॉप फील्डर्स में होती थी. कैफ के पिता और भाई भी क्रिकेट खेलते थे.

राजनीति में सफल नहीं हो सके
मोहम्मद कैफ राजनीति में भी हाथ आजमा चुके हैं, लेकिन वहां उन्हें सफलता नहीं मिली और हार का सामना करना पड़ा. लोक सभा चुनाव-2014 में मोहम्मद कैफ फूलपुर क्षेत्र से कांग्रेस के प्रतिनिधि थे. जहां उन्हें बीजेपी के केशव प्रसाद मौर्य से हार का सामना करना पड़ा.